500+ Best Zakhmi Shayari in Hindi | जख्मी दिल शायरी

By Raja Kumar Dec 2, 2023
Zakhmi Shayari in Hindi

बहुत खुश नसीब होते है ताश के बिखरे हुए पत्ते !!
क्यों के इन्हे उठाने वाला कोई तो है !!

बहुत प्यारी सी खुमारी था उसकी झुठी बातों में !!
वो बोलते गए और हम मदहोश हो गए !!

Zakhmi Shayari,
zakhmi dil shayari download,
dard bhari shayari in hindi,
ज़ख़्मी  दिल ब्रेकअप  शायरी ,
बेवफा ज़ख़्मी  दिल शायरी ,
जख्मी  दिल  शायरी फोटो ,
jakhmi shayari fb status,
jakhmi dil shayari boy hindi,
जख्मी  दिल  शायरी गर्लफ्रेंड ,

कितने ही बरसों का सफर खाक हुआ !!
उसने जब पूछा कहो कैसे आना हुआ !!

कोई हम से पूछे उन करम ओ सितम का आलम !!
कभी मुस्कुरा के रोए कभी रो के मुस्कुराए !!

तेज बहती हवाओं को क्या पता !!
डाल से टूटेगा कोई फूल तो बिखर जाएगा !!

जानती है वो मेरी मजबूरियां !!
वो हार जाती है मैं रो देता हूँ !!

फ़िक्र सोती थी चैन से पहले !!
अब मुझे रात भर जगाती है !!

आजकल नाराज़ है जरा मेरा मन मुझसे !!
वरना ज़माने से गिला तो ना कल था ना अब है !!

यूँ ख्वाबो में आकर मुझे परेशान न करो !!
कुछ इस तरह जुदाई के लम्हो को सहल तुम करो !!

मोहब्बत के लिए ऐसे भी जिंदगी बहुत कम है !!
फिर एक दूसरे से तकरार में वक़्त गँवाने की जरूरत क्या !!

Ghamand Quotes In Hindi | घमंड शायरी हिंदी

Zakhmi Shayari in Hindi

भरी दुनिया में कोई भी नजर आता नहीं अपना !!
एक दौर ऐसा भी गुजर जाता है इन्सां पर !!

तुमने कहा था आँख भर के देख लिया करो मुझे !!
मगर अब आँख भर आती है तुम नजर नही आते हो !!

तेरी बेवफाई को भुला न सकेंगे !!
छह कर भी हम मुस्कुरा न सकेंगे !!

अगर तुम समझ पाते मेरी चाहत की इन्तहा !!
तो हम तुमसे नही तुम हमसे मोहब्बत करते !!

मेरे गुलशन ए मोहब्बत में वीरानी कहाँ से आए !!
कभी उसने फूल खिलाए कभी मैंने गुल सजाये !!

हर लफ्ज़ में दर्द है राज है कुछ जज्वात है !!
लोग समझते हैं इसे शायरी और बस मुस्कुरा देते हैं !!

कागज़ों पे लिख कर ज़ाया कर दूँ मै वो शख़्स नही !!
वो शायर हूँ जिसे दिलों पे लिखने का हुनर आता है !!

क्या मिला मुझे तुमसे दिल लगाकर !!
बस रातों को जागना और जागते रहना !!

मोहब्बत की तलाश में निकले हो तुम अरे ओ पागल !!
मोहब्बत खुद तलाश करती है जिसे बर्बाद करना हो !!

पसंद आ गए हैं कुछ लोगों को हम !!
कुछ लोगों को ये बात पसंद नहीं आयी !!

Zakhmi Shayari

लङने दो ज़ुल्फों ओर हवाओ को आपस में !!
तुम क्यों हाथ से उनमें सुलह कराने लगती हो !!

जख्म देकर मेरे दिल को !!
वो मेरे दिल का हाल पूछते है !!

रिश्तें तोड़ने तो नहीं चाहिए लेकिन !!
जहाँ कद्र न हो वहाँ निभाने भी नहीं चाहिए !!

हमे पता था कि तुम्हारी इश्क़ के जाम में जहर है !!
लेकिन पिलाने में प्यार इतना था कि हम ठुकरा न सके !!

नाजुक लगते थे जो हसीन लोग !!
वास्ता पड़ा तो पत्थर के निकले !!

हम अपनी उलझनों में कुछ इस तरह उलझ चुके हैं !!
वो समझते है हम भूल चुके है उन्हें !!

चेहरे जो चुप चाप बात करते है !!
अक्सर वही एक दूसरे के जज्वात समझते हैं !!

सीख जाओ वक्त पर किसी की चाहत की कदर करना !!
कहीं कोई थक ना जाए तुम्हें एहसास दिलाते दिलाते !!

ऐ दोस्त इतने चेहरे न बदलो झूठी शोहरत के लिए !!
के खुद की पहचान बदल जाए !!

मैं चला मय ख़ाने जहाँ कोई रंज नहीं है !!
जिसे देखनी हो जन्नत वो आ जाए मेरे साथ !!

जख्मी दिल शायरी गर्लफ्रेंड

मुझे नहीं चाहिए जो छीन कर लेना पड़े !!
लिखा नहीं जो किस्मत में चाहत छोड़ दी !!

माना अभी जख्मी है दिल हमारा !!
पर जख्म देकर खुश नहीं है दिल तुम्हारा !!

तू मेरे बिना ही खुश है तो शिकायत कैसी !!
अब मैं तुझे खुश भी ना देखूँ तो मोहब्बत कैसी !!

यहाँ अपने ही मजा लेते है अपनों की हार पर !!
कैसे करूं भरोसा गैरों के प्यार पर !!

कुछ इस तरह मुझसे वक्त ने सौदे किये है !!
लेकर मेरी मासूमियत तजुर्बे बहुत से दिए है !!

हर मुलाकात पर वक्त का तकाजा हुआ !!
हर याद पे दिल का दर्द ताजा हुआ !!

कितना नादाँ है ये दिल कैसे इसे समझाऊं !!
तू जिसे खोना नहीं चाहता वो तेरा होना नहीं चाहता !!

ऐसा नही है कि अब तेरी जुस्तजू नही रही !!
बस टूट-टूट कर बिखरने की हिम्मत नही रही !!

दिलों में गर पली बेजाँ कोई हसरत नही होती !!
हम इंसानों को इंसानों से यूँ नफरत नही होती !!

इशक का बुखार उतरा तो मालूम हुआ !!
जिसके लिए रात रात भर रोते थे वो सिर्फ बेमतलब चाहत थी !!

Jayari boy hindi

मेरी कोशिश हमेशा नाकाम रही !!
पहले तुझे पाने की अब तुझे भुलाने की !!

तेरे बाद हमने दिल का दरवाजा खोला ही नहीं !!
चाँद बहुत आए इस वीरान दिल को सजाने के लिए !!

इक दिल ने इक दिल को दिल ही दिल में प्यार की !!
जब दिल ने निगाहों से इजहार किया तो दिल ने पलके झुका दी !!

अगर देख लेते जख्म हमारे दिल का !!
तो आप यूं संवर कर नहीं निकलते !!

समझता हूँ सबब काफ़िर तिरे आँसू निकलने का !!
धुआँ लगता है आँखों में किसी के दिल के जलने का !!

मेरे जख्मी दिल को छुआ न करो !!
मर जाने दो मुझको जीने की दुआ न करो !!

न कोई ऐसा मिला जिस पर हम जान लुटा देते !!
हर किसी ने धोखा दिया किस किस को सजा देते !!

तेरी यादों को दिल में छुपा कर बैठे हैं महफ़िल में तेरी !!
जुबान पर तेरा नाम न ए यही ख्याल रखता हूँ !!

नहीं जानता कैसे करूँ तेरे हुस्न की तारीफ !!
मेरी नज़र में तुझसे हसीं कोइ भी नहीं !!

आज लफ्ज़ो को मैंने शाम को पीने पे बुलाया है !!
बन गयी बात अगर तो ग़ज़ल भी हो सकती है !!

Jakhmi shayari fb status

लफ्ज़ ख़त्म हो गए अब इस रात के !!
चलो सुबह होने का इंतज़ार करते हैं !!

जब भी हम किसी के करीब जाते है !!
धोका अकसर हम वहीं खाते है !!

वक्त हमे ये कैसी मोड़ पर लाया है !!
यादों में इनके दिल भर आया है !!

बेखोप रहते थे जब अकेले हुआ करते थे !!
आज मोहब्बत के इन जख्मों से डर लगाता है !!

आज भी प्यारी है तेरी हर निशानी !!
दिल के जख्म हो या हो आंखों का पानी !!

जख्म जो सारे है वो मेरे हिस्से आए !!
खुदा तुझे खुश रखें और गम मेरे हिस्से आए !!

मोहब्बत में आत तक कितनो ने जान दी है !!
इश्क़ दोबारा ना करना ये मैंने ठान ली है !!

इश्क़ अगर होता सच्चा हम जान दे देते थे !!
उसको निभाने के खातिर सब वार देते थे !!

उसकी बेवफाई थी ऐसी सीने में ज़ख्म कर गए !!
मुझे जान जान कहते मेरी जान ले गए !!

दिल का दर्द बताएं हम कैसे !!
नुमाइश की चीज नहीं दिखाएं हम कैसे !!

Jigri Yaar Status in Hindi | जिगरी यार स्टेटस

जख्मी दिल शायरी फोटो

मौत पर भी है यकीन उन पर भी ऐतबार है !!
देखते है पहले कौन आता है दोनों का इन्तजार है !!

इश्क़ है ऐसा समंदर की गहराई !!
डुबाकर मुझे मेरी जान ले गई !!

ज़ख्म सीने पर जब हमने खाए !!
न कोई देख सका ना घाव नज़र आए !!

तेरे खातिर हम पुरी दुनियां में बदनाम हो गए !!
तेरे इश्क़ में मिला ऐसा ज़ख्म की हम चूर_चूर हो गए !!

ज़ख़्मी दिल ब्रेकअप शायरी
अब धीरे धीर सवरने लगे है !!
इश्क़ के जख्मों से उभरने लगे है !!

तुझ से की सच्ची मोहब्बत तो हम बुरे है क्या !!
तूने दिए जो ज़ख्म दिल पर ये सही है क्या !!

मुद्दातो के बाद हम सवरने लगे !!
ज़ख्म जो सीने में थे वो भरने लगे !!

जो मिले किसी से छुपके ये ठिक बात नहीं !!
हो जाएंगे अगर ज़ख्म दिल पर इसका कोई इलाज़ नहीं !!

जुदा होकर तुमसे हर रोज रोते है !!
जुदाई का ज़हर हम हर रोज पीते है !!

तुमसे बिछड़कर एक बात जानी है !!
तुम बिन ना जी पायेंगे ये बात मानी है !!

बेवफा ज़ख़्मी दिल शायरी

ये खुदा मेरे तखलीफो थोड़ा कम कर दे !!
दर्द होता हैं जुदाई में तू अपने पास बुला ले !!

आज भी गुजरते है तेरे गलियों से इसलिए !!
जहां आखरी मुलाकात हुई थीं वो वक्त बदल पाऊं !!

अब कहा बोल पाता हु कुछ ख़ामोश ही रहता हूं !!
तुझ से जुदा होकर अब भटकता रहता हूं !!

तुझ से जुदा होना गवारा ना था !!
पहले मैं भी आवारा ना था !!

बने हैं अहल ए हवस मुद्दे भी मुंसिफ भी !!
किसे वकील करें किससे मुंसिफी चाह !!

सवाल भी तुम हो मेरा जवाब भी तुम हो तुम्हे देखकर होती है
जो सीने में जो हलचल उसका इलाज भी तुम हो !!

मुझे तुम्हारा साथ जन्मों तक चाहिए मुझे !!
जन्मों की प्यास एक घूंट में कहा बुझती है !!

जो जख्म दिखते नहीं इन आँखों से अक्सर !!
वही सबसे ज्यादा तकलीफ देते हैं !!

तुझे भूलकर भी ना भूल पायेंगे हम !!
बस यही एक वादा निभा पायेंगे हम !!

धोखा है तेरी मुहब्बत में गुलाब और शबाब की !!
वरना हम कभी महक तो कभी बहक क्यों जाते है !!

ज़ख़्मी दिल ब्रेकअप शायरी

दर्द यूँ तो बहुत है मेरी ज़िंदगी में !!
मगर ऐ सितमगर तेरी यादों सा कोई सित्तम नहीं करता !!

सबको पता है इश्क़ में अक्सर दिल टूटता है !!
आशिक इश्क़ करने से पहले क्यों नहीं सम्भलता है !!

दिल तोड़ते है अरमानों का कत्ल करते हैं !!
कोई तो बता दे इन पर मुक़दमा क्यों नहीं होता !!

टूटे हुए दिल का कोई खरीददार नही होता !!
एक बार दिल टूट जाए तो फिर प्यार नहीं होता !!

अपनों को भी बताये नहीं जाते !!
जख्म दिल के दिखाये नहीं जाते !!

दर्द को भी दर्द हुआ दिल का जख्म देखकर !!
जिसने ये दिल का दर्द दिया सिर्फ वही था बेखबर !!

किसी से इश्क़ उतना ही कीजिये !!
दिल टूटने पर उसे जोड़ा जा सके !!

दिल गुमसुम जुबाँ खामोश आँखे नम क्यों है !!
तुझे कभी पाया ही नहीं तो आज खोने का गम क्यों है !!

जब इश्क़ के ख्वाब अधूरे रह जाते है !!
तब दिल के दर्द आँसू बनकर बाहर आते है !!

दुआ करना दम भी उसी दिन निकले !!
जिस दिन तेरे दिल से हम निकले !!

Dard bhari shayari in hindi

क्या रखा है सुनने और सुनाने में !!
किसी ने कसर नहीं छोड़ी दिल दुखाने में !!

ये कौन-सी नई रीति चला रहे है लोग !!
बेवफाओ के लिए उम्र भर आँसू बहा रहे है लोग !!

तुम्हारा दिल मिरे दिल के बराबर हो नहीं सकता !!
वो शीशा हो नहीं सकता ये पत्थर हो नहीं सकता !!

जाते जाते कोई हमे एक बात सिखा गया !!
दिलों से खेलने का हुनर दिखा गया !!

कुछ बीते है दफन है सीने में उसे दफन ही रहने दो !!
कुछ ज़ख्म है सीने में उसे खुला ही रहने दो !!

राज मोहब्बत के छुपा लेंगे तुम आवो तो सही !!
ज़ख्म सीने में दबा लेंगे तुम आवो तो सही !!

लग जाते है ज़ख्म जब कोई दिल तोड़ जाता है !!
वक्त भर देता है घाव मगर निशान रह जाता है !!

बीना किसी को जाने इकरार ना करना !!
ज़ख्म मिलते हे इश्क़ में किसी पे एतबार ना करना !!

जमाने क्या शिकायत करू दर्द जब अपनों ने दिए है !!
किसी और के खातिर रिश्ते सच्चे मिटाएं है !!

इश्क़ ये मोहब्बत सब बोलने की बाते है !!
अकसर इसमें सच्चे आशिक़ ही रोते है !!

Zakhmi dil shayari download

चाहत कुछ भी नहीं मेरी तेरे सिबा !!
तू न मिले तो गम नहीं बस तेरे घर के सामने रहने की ख्वाहिश है !!

आज मेरी xजान मुझसे बोली तुम अब बदल से गए हो !!
उसे कौन समझाए टूटे हुए फूल मुरझा जाते हैं !!

आज तक उस जख्म से दुख रहा है बदन !!
एक सफ़र में मिला था मुझे मेरी ही चाहतों से !!

शक से भी आजकल टूट जाते हैं कुछ रिश्ते !!
ये जरुरी नहीं हर बार कोई बेवफा ही निकले !!

नसीब देखो इक गरीब बाप का अक्सर अपनी ख्वाहिशें मारनी पड़ती है !!
कभी पैसे नहीं होते कभी जिम्मेदारियां याद आती हैं !!

इश्क की राह में कोई किसी के लिए ठहरता नहीं !!
न मुड़ के देखा कभी साहिलों को दरिया ने !!

तुझको भी मिल गया प्यार अपना !!
अपना किसी को हम बना न सकेंगे !!

क्या खूब गुमान बढ़ाया तुफानो ने मुठी भर रेत का !!
मगर दो बूँद बिसात ने हैसियत बता दी !!

अजनबी हो अगर तुम तो लोट क्यूँ नहीं जाते !!
चाहत है दिल में छुपी तो रुक क्यूँ नही जाते !!

इक धोके के बाद मुझे न रहा शोख आशिकी का वरना !!
तेरे गाँव की खिड़कियाँ अब भी इशारे करती हैं !!

King Shayari In Hindi | किंग स्टेटस इन हिंदी

Zakhmi Shayari

चाहत के मारों से ना पूछो दर्द ऐ इंतज़ार का !!
वीरान सी है ज़िन्दगी और ख्याल है आप का !!

तेरे झूठे वादों से कब तक मैं खुद को तस्सली दूँ !!
कोई ऐसा इलज़ाम लगा दे तेरी आस ही छोड़ दूँ तेरी !!

साँसे भी तो इंसान से जुदा हुआ करती हैं !!
तो मोहब्बत ही क्यों ये इलज़ाम सहा करती है !!

आज कल जिन लोगो पर सिर्फ दौलत हुआ करती है !!
उन लोगो पर दुनिया में सबसे ज़्यादा गरीबी हुआ करती है !!

हमने इंसानो को अपनी औकात भूलते देखा है !!
जब हमने रोटी को कूड़े में फेंकते देखा है !!

ऐ इंसा तू अपनी तारीफ मत कर वो वेफज़ूल है !!
क्योंकि खुशबू खुद ही बता दिया करती है ये कोन सा फूल है !!

वही दिन वही पुरानी ही रातें लगती हैं वही रोज का फलसफा !!
अभी महीना भी नहीं गुजरा और यह साल अभी से पुराना लगता है !!

जो आपकी किस्मत में है वो दौड़ कर आएगी !!
और जो किस्मत में नही है वो धोखा दे जायगी !!

डरता हूं मोहब्बत से कसमों से वादों से !!
अब बचता फिरता हूं !!
झूठे मोहब्बत के दिखावे से !!

कुछ दर्द की शिद्दत है !!
कुछ पास मोहब्बत है !!
हम आह तो करते हैं !!
फरियाद नहीं करते !!

Dard bhari shayari in hindi

बेवफा ज़ख़्मी दिल शायरी
मुरझा जाती हैं गिर जाती हैं शाख से जो कलियाँ !!
उनकी किस्मत में फूल बनना लिखा नहीं खुदा ने !!

लगता है मेरी नींद का किसी के !!
साथ चक्कर चल रहा है !!
सारी सारी रात गायब रहती है !!

मिलाबट के बाजार में रिश्तो को कुछ इस तरह सजाया जाता है !!
ऊपर से तो बहुत अच्छा दिखाया जाता है !!
पर अंदर से धोखा मिलाया जाता है !!

जख्मी दिल शायरी फोटो !!
रात उनको बात बात पे सौ सौ दिए जवाब !!
मुझको खुद अपने आप से ऐसा गुमान न था !!

ज़िन्दगी में कभी किसी की मज़ाक मत बनाना !!
क्योंकि जब समय मौका देता है !!
फिर उसी तरह से धोखा भी देता है !!

लोग कहते है मोहब्बत में हम मर जायेंगे !!
राह कैसी भी हो हम गुज़र जायेंगे !!
तुम सितम करके मोहब्बत को मिटा ना पाओगे
हम सितम सह कर भी तेरे दिल में उतर जायेंगे !!

वक्त के इस मोड़ पर ये कैसा वक्त आया है !!
ज़ख्म इस दिल का जुबां पर आया है !!
नही रोते थे हम काँटों की चुभन से !!
आज फूलों की चुभन ने हमे रुलाया है !!

सीधे रास्तों पर जब जब ठोकर खायी है !!
ऐ ज़िन्दगी तब तब हमे तू लगी परायी है !!
इश्क़ को समझा खुशियों का सागर मैंने !!
इश्क़ किया तो जाना ये तो गहरी खायी है !!

जख्म जब मेरे सीने के भर जायेंगे !!
आँसू भी मोती बन कर बिखर जायेंगे !!
ये मत पूछना किस-किस ने धोखा दिया !!
वरना कुछ अपनों के भी चेहरे उतर जायेंगे !!

जिस के सीने में दर्द ठहरा हो !!
उस का रोना बहुत ज़रूरी है !!
उन से होनी हैं ख़्वाब में बातें !!
मेरा सोना बहुत ज़रूरी है !!

बेवफा ज़ख़्मी दिल शायरी

तेरे रोने से उन्हें कोई !!
फ़र्क नहीं पड़ता ऐ दिल !!
जिनके चाहने वाले ज्यादा हो !!
वो अक्सर बेदर्द हुआ करते है !!

दो कदम तो सब साथ चल लेते है पर !!
जिन्दगी भर साथ कोई नहीं निभाता !!
अगर रो कर भूली जाती यादें !!
तो हँस कर कोई गम न छुपाता !!

अक्सर लोग कहते हैं बक़त बदलता है !!
लेकिन सच तो ये है !!
वक़्त के साथ इंसान भी बदलता है !!

मुझे रुलाकर सोना तेरी आदत हो गई है !!
जिस दिन मेरी नींद न खुली !!
उस दिन उन्हें नींद से नफरत हो जायेगी !!

आज तुम्हे मुझ में खामियां नज़र आती हैं !!
याद क्र वो दिन जब तुमने कहा था !!
चाँद में तो दाग है पर तुझमे नहीं !!

वो रात दर्द और सितम की रात होगी !!
जिस रात रुखसत उनकी बारात होगी !!
उठ जाता हूँ मैं ये सोचकर नींद से अक्सर !!
कि एक गैर की बाहों में मेरी सारी कायनात होगी !!

जब वो हाथों से मुँह छुपा के रोये !!
क्या रहो होगी मजबूरी जो मुँह मोड़ कर रोये !!
मेरे सामने तो तस्वीर में के टुकड़े कर दिए मेरे बाद उन्हें जोड़ कर रोये

तुम क्या जानों हवा में उड़ती तुम्हारी जुल्फे देख कर !!
कितनो के दिल बेचैन हो जाते हैं !!
मत बंधा करो इन्हे उन्हें बेचैन रहने दो !!

जो लोग रिश्ते मतलब से बनाते है !!
वो अकेले रह जाते है !!
पर जो लोग रिश्ते सच्चे दिल से बनाते है !!
वो एक दूसरे के हमसफ़र बन जाते हैं !!

जब जेब खाली थी !!
तब हम अकेले चला करते थे !!
अब भरने लगी जेब तो सब अपनापण जताने लगे !!

Attitude Quotes in Hindi | गर्ल ऐटिटूड स्टेटस हिंदी में

Jakhmi shayari fb status

दिल उसी ने तोड़ा !!
जिसने उम्र भर साथ !!
चलने का किया था वादा !!
अब हमें भी फर्क नहीं पड़ता !!
चाहे दर्द कम हो या ज्यादा !!

सच्ची है मेरी मोहब्बत आजमा कर देख लो !!
करके यकीन मुझ पर मेरे पास आकर देख लो !!
बदलता नही सोना कभी अपना रंग !!
जितनी बार दिल करे आग लगा के देख लो !!

प्यार वफ़ा सब कुछ मिटा दिया होता !!
उसका नाम तक भुला दिया होता !!
अगर तस्वीर उसकी दिल में न होती !!
तो खुद को भी जला दिया होता !!

मेरे अपना मुझको कभी समझ नहीं सके !!
रिश्तों में अहसास फिर पनप नहीं सके !!
एक घर के अंदर भले हम संग-संग रहे !!
मगर दिल की दूरियां सिमट नहीं सके !!

भरता ही नहीं ये जख्म मिला कैसा है !!
मोहब्बत का मिला ये सिला कैसा है !!
पल-पल सताती है उस बेवफा की याद !!
थमता ही नहीं ये सिलसिला कैसा है !!

लोग कहते है पिये बैठा हूँ मैं !!
खुद को मदहोश किये बैठा हूँ मैं !!
जान बाकी है वो भी ले लीजिये !!
दिल तो पहले ही दिए बैठा हूँ !!

वो रोये तो बहुत पर मुझसे मुँह मोड़ कर रोये !!
कोई मजबूरी होगी जो दिल तोड़ कर रोये !!
मेरे सामने कर दिए मेरी तस्वीर के टुकड़े !!
पता चला मेरे पीछे वो उन्हें जोड़ कर रोये !!

किन लफ्जों में बयाँ करूं !!
अपने दिल के दर्द को ऐ जिंदगी !!
सुनने वाले तो बहुत है !!
समझने वाला कोई नहीं !!

चाहत टूटी तो जिन्दगी बिखर जायेगी !!
ये जुल्फ़ नहीं है जो हर बार संवर जायेगी !!
थाम लो दामन उसका जो तुम्हे ख़ुशी दे !!
वरना रो-रो कर तो सारी उम्र गुजर जायेगी !!

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *