जब कोई किसी से प्यार करता है !! तो गुस्सा भी उसी से करता है !!

गुस्से में किया हुआ सीधा बात भी !! कई बार लोगों को उल्टा Read More !!

शांत हो जाता है गुस्सा मेरा वहाँ !! गलती करने वाला मान लेता है अपनी गलती जहाँ !!

आपके प्यार की कद्र कोई पराया भी करेगा !! लेकिन आपके गुस्से की कद्र केवल अपने ही करेंगे !!

गुस्से में भी उसका प्यार दिखता है !! तकलीफ़ भले मुझको दे दर्द उसको होता है !!

बहुत परेशान मेरा दिल आज है !! बता मेरे गुस्से का क्या इलाज है !!

गुस्सा तो तब आता है जब लोग बिना रीज़न !! बताये इग्नोर करने लगते है !!

लड़ते बहुत है गुस्सा भी बहुत है मगर !! गुस्सा बाहर से है मोहब्बत अंदर है !!

कितना गुस्सा था मन में मेरे उसके दो आँसू देखकर ही बह गया !!

मुझ से नफरत वाजिब है तुम्हे !! ये न करोगे तो मोहब्बत हो जायेगी !!