15 august shayari in hindi

भारत की इस जमी पर कटे कितने माथ है !! शहादत उन विरो की शदा दिल के पास है !!

जशन आजादी का मिलकर साथ मनाएंगे !! याद कर विरो का बलिदान शीश सदा नवाएंगे !!

भारत की इज्जत हमारे लिए महान !! ऐसे ही नहीं लेते अवतरण यहां हर एक भगवान !!

कुछ तो बात है मेरे देश की मिट्टी में साहेब !! सरहदें कूद के आते हैं यहाँ दफ़न होने के लिए !!

जश्न आज़ादी का मुबारक हो देश वालो को !! फंदे से मोहब्बत थी हम वतन के मतवालो को !!

लिपट कर बदन  तिरंगे में आज भी आते हैं !! यूँ ही नहीं दोस्तों हमकई ये पर्व मनाते हैं !!

आजाद भारत के नालायक जवानों !! अगर आज वैलेंटाइन का दिन होता !!

भारत की फ़जाओं को सदा याद रहूँगा !! आज़ाद था आज़ाद हूँ आज़ाद रहूँगा !!

बेबी को बेस पसन्द हैं सलमान को केस पसन्द हैं !! मोदी को विदेश पसन्द हैं और मुझे मेरा देश पसंद हैं !!